Tuesday, July 14, 2020
Home Uncategorized औषधि क्या है केमिस्ट्री चैप्टर यूपी बोर्ड

औषधि क्या है केमिस्ट्री चैप्टर यूपी बोर्ड

औषधि क्या है बे रासायनिक पदार्थ जिनकी आणविक द्रव्यमान 100 माइक्रो से 500 माइक्रो होता है इसे औषधि कहते हैं यह हमारे शरीर में जैव अणु जैसे कार्रवाई ट्रेड प्रोटीन विटामिन आज से क्रिया करके जैविक प्रतिक्रियाएं उत्पन्न करते हैं और यह जैविक प्रतिक्रिया हमारे शरीर के लिए लाभदायक और चिकित्सीय होती है

औषधि का वर्गीकरण
 आशिकी 2 सुदी का बरी करने में लिखित है
वैसे जो गुण विज्ञानियों के आधार पर यह वरी करण चिकित्सीय को उनके किसी विशेष उपचार के लिए औषधियों की पूरी सीडी देता है यदि चिकित्सकों की विधि होती है जैसे पीड़ा हारी औषधि का उपयोग पीड़ा नाशक के रूप में किया जाता है
संरचना के आधार पर यह वरी करण और सीडी की संरचना पर आधारित है इसके अनुसार समान संरचना वाली औषधि का उपयोग समान संरचना के लोगों के लिए किया जाता है
औषधि के प्रभाव के आधार पर यह औषधि जैव रासायनिक प्रक्रम पर आधारित है जैसे शरीर में उत्पन्न होने का पर प्रत्येक स्टेमिन एलर्जी के प्रभाव को नष्ट कर देती है
लक्षणों के आधार पर औषधि विभिन्न जब ऑडियो ऑडियो जैसे कार्रवाई डेट प्रोटीन विटामिन न्यूक्लिक अम्ल आज सिकरिया करती है इन्हें लक्षणों कहते हैं लव समान संरचना वाली औषधि की इन लक्षणों पर क्रिया समान होती है जैसे जैव रासायनिक अभिक्रिया को प्रेरित करने वाली औषधि प्रोटीन एंजाइम कहलाती है
एंजाइम का अप्रैल की कार्य अंजाम अमेरिकी की क्रिया में दो प्रमुख कार्य करता है अंजाम का पहला कार्य रासायनिक अभिक्रिया के लिए अभिकर अभिकारक और रुको अपनी-अपनी अभिक्रिया सत्ता जुड़े रहना अब कारक और एंजाइम कोरिया सतह पर हाइड्रोजन बंध आयनिक बंध बंध एंजाइम का दूसरा कार्य समूह को उपलब्ध कराना है जो अब क्रिया या अभिकारक से क्रिया करके उत्पाद का निर्माण करता है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

धनुष यज्ञ – बालकाण्ड

धनुष यज्ञ बालकाण्ड मिथिलानरेश के वहाँ से विदा हो जाने  पर ऋषि विश्वामित्र राम और लक्ष्मण को लेकर यज्ञ मण्डप में गये। यज्ञ मण्डप को...

पहली पुतली रत्नमंजरी की कहानी – सिंहासन बत्तीसी

अंबावती में एक राजा राज्य करता था। वह बड़ा दानी था। उसी राज्य में धर्मसेन नाम का एक और बड़ा राजा हुआ। उसकी चार...

लवणासुर वध कैसे हुआ

अगले दिन प्रातःकाल होने पर जब लवणासुर अपने पुर से बाहर निकला, तब ही शत्रुघ्न हाथ में धनुष बाण ले मधुपुरी को घेर कर...

चितौड़ की रानी कर्मवती

*चितौड़ की रानी कर्मवती*सभी राजपूत रियासतों को एक झंडे के नीचे लाने वाले महाराणा सांगा  के निधन के बाद चितौड़ की गद्दी पर महाराणा...

Recent Comments